Beti Bachao Beti Padhao Yojana in Hindi

Beti Bachao Beti Padhao Yojana in Hindi

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ सरकारी योजना Beti Bachao Beti Padhao in Hindi (BBBP) मुख्य रूप से बेटियो के लिए सुरू की गई योजना है। इस योजना का मुख्य आशय बेटियो की रक्षा,शिक्षा ओर समाज मे उनके स्थान को एक मजबूती देना है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ध्वारा इस योजना का प्रारंभ 22 जनवरी 2015 को हरियाणा के पानीपत से किया गया था। Beti Bachao Beti Padhao in Hindi पर हम इस योजना के बारे मे विस्तार से समजेगे ओर इस योजना के तहत किसको समाया जा सकता है,ओर साथ ही Beti Bachao Beti Padhao Details ध्वारा आपको क्या करना होगा ओर आप कहा से इस योजना से जुड़ सकते है, इसके बारे मे आपको विस्तार से जानकारी देने का प्रयत्न करेंगे।

भारत मे स्त्रियो का स्थान ओर समाज की मानसिकता

बेटियो की भ्रूणहत्या के कारण आज भारत मे लिंगानुपात (sex ratio) 1000 के सामने 918 है। लिंगानुपात यानि 1000 पुरुष के बराबर स्त्री वर्ग की समानता। भारतीय समाज की मानसिकता के कारण भारतीय समाज मे स्त्रियो का स्थान पहेले से ही काफी कम आंका गया है। साथ ही इस योजना के अंतर्गत बेटियो को शिक्षा के लिए प्रोत्साहित करना इसका मूल आशय है। आज के आधुनिक युग मे भी भारत जेसे प्रगतिशील देश मे बेटियो को पढ़ाया नहीं जाता। एसी मानसिकता ओर कुरीति को मिटाने ओर समाज मे स्त्रियो को पुरुष के बराबर स्थान मिले इस हेतु से Beti Bachao Beti Padhao Scheme को बनाया गया है। इसके अंतर्गत सरकार ध्वारा सुकन्या समृद्धि योजना बनाई गई है। जो बेटियो के लिए छोटी निवेश योजना है। सुकन्या समृद्धि योजना

Beti Bachao Beti Padhao Scheme Benifits की आखिर हमे जरूरत क्यो है? क्या आप जानते है की आज हमारे इस भारत देश मे लड़कियो की क्या हालत है। अगर हम आम आदमी की सोच से बात करे तो, “भाई! क्या हालत होगी? हमारे यहा तो कोई परेसानी नहीं है। हमारी बहन है, पत्नी है, माँ है, सब है उन्हे तो कोई परेसानी नहीं है। तो फिर यह सब योजना का क्या मतलब है। वह सब तो हमारे साथ सुरक्षित है ओर खुश भी है।”तो यह एक आम आदमी की सोच है। सायद मेरे ख्याल से ज़्यादातर भारतीय समाज की यही सोच होगी। अब मे सही मे इस बात पे चर्चा करना चाहूँगा। चलिये अब बात करते है की सही मे माँ,बेटी,बहन ओर पत्नी सही मे वह खुश ओर सुरक्षित है या नहीं?पहेले हम एक माँ की बात करते है। माँ जिसके लिए अपनी संतान ही उसका जीवन होता है, चाहे वह बेटा हो या बेटी। आज के इस युग मे भी बेटी से ज्यादा बेटे को महत्व दिया जाता है।

इसी बेटे की चाह के कारण आज माँ की कोख मे ही बेटी को मार दिया जाता है। आज का युग आधुनिक तो हो गया है पर मानसिकता वही पुरानी है आज हम हर कदम पर आगे है पर हम इस सोच मे सबसे पीछे चल रहे है। जी हा यह बात कड़वी जरूर है पर सच है की आज भी एसी सोच है की “लड़का चाहिए लड़की नहीं।” अगर हम इस पर बात करने जाएंगे तो मेरे ख्याल से यह ख्तम नहीं होगा। अब एक बेटी की बात करते है। बेटी को समाज मे या परिवार मे बेटे से कम आँका जाता है। क्योकि वह लड़का नहीं लड़की है। उसे पढ़ाया नहीं जाता है अगर पढ़ाया जाता है तो जायदा से ज्यादा १०वी या 12वी तक उसके बाद उसकी शादी कर दी जाती है या घर का चुला-चोका सोप दिया जाता है।

अब बहन की बात करते है तो उसे भाई से जोड़ा जाता है या फिर हमारा समाज मे ये नहीं होता, हमारे समाज की लड्किया ये नहीं करती, हमारे परिवार मे एसा नहीं चलता, फलाना फलाना जेसी बात कर उसे समजाया जाता है ओर उसकी शादी करके उसे ससुराल भेज दिया जाता है। अब पत्नी की बात करते है तो वीसे तो उसे घर की लक्ष्मी कहा जाता है पर मानता कोई नहीं है। पत्नी अगर घर के अलावा कोई बाहर का काम करना चाहे तो वह नहीं कर सकती। क्यो की वह जिस घर की बहू है उस घर की इज्जत नहीं रहेगी,लोग बाते करेंगे,जेसे कई सारे बहाने देकर उसे आगे बढ़ाने से रोका जाएगा।

Beti Bachao Beti Padhao Yojana in hindi का आशय

बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ कार्यक्रम के बारे मे बात कर रहे थे तो इस योजना की बात करते है की हमे इस योजना की जरूरत क्यो है।बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना का मुख्य आशय बेटियो के जन्म के घटते दर को रोकना है, “जिसका मुख्य कारण है स्त्री भ्रूण हत्या (female foeticide)।” उसके साथ ही बेटियो को शिक्षा देना है।

 

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र  मोदी के मुताबिक,  “हमारा मंत्र होना चाहिए: बेटा और बेटी एक समान हैं।”

 

स्त्री भ्रूण हत्या (female foeticide) को रोकना – PCPNDT act 1994 (Pre-Conception and Pre-Natal Diagnostic Techniques)

प्री-नेटल डायग्नोस्टिक टेक्निक ‘पीएनडीटी’ एक्ट 1996, के तहत जन्म से पहेले शिशु के लिंग की जांच करना कानूनन अपराध है। यदि कोई इस नियम का पालन नहीं करता ओर वह जांच करवाता है या करता है तो इससे जुड़े सभी लोगो को 3 से 5 साल की सजा ओर 10000 से 50000 रुपए के जुर्माने की सजा होगी।

लड़कियो का अस्तित्व ओर उनकी सुरक्षा 

स्त्री भ्रूण हत्या के कारण आज हमारे देश मे लड़कियो के अस्तित्व पर सवाल उठ रहा है। ओर साथ ही कुछ असामाजिक ओर अमानवीय मानसिकता वाले तत्वो के कारण स्त्रियो की सुरक्षा कमजोर हो उठी ही उसके साथ ही हमारे समाज की मानसिकता ने ऐसे तत्वो को बढ़ावा दिया है। Beti Bachao Beti Padhao Yojana के अंतर्गत ऐसी कमजोरी से लड़ने ओर इनसे स्त्रियो की रक्षा करना ही इस योजना का मुख्य ध्येय है।

बेटियो को पढ़ाना ओर शिक्षा देना

आज के इस युग मे शिक्षित होना आवश्यक है। इस आधुनिक समय मे सब के साथ चलना है तो शिक्षा प्रदान करना जरूरी है। इसी होड मे लड़कियो को आना है ओर उन्हे अपनी इच्छाओ के पंख फेलाने है। पर इसके लिए हमे अपनी सोच बदलनी होगी ओर बहन-बेटियो को पढ़ना होगा। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मुताबिक इस देश की हर बच्ची को शिक्षित करना चाहिए। इसी सोच को मजबूती देने के इरादे से सरकार ध्वारा बेटियो के लिए मुफ्त शिक्षण किया गया है। साथ ही इससे जुड़े हर पहलू को सरकार ध्वारा आवश्यक रूप से मदद की गई है।जिसमे बेटियो के लिए मुफ्त परिवहन की वयवस्था,मुफ्त किताबे आदि जेसी सेवाए सरकार ध्वारा दी जा रही है।

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना का लक्ष्य

  • हर साल बच्चिओ के जन्म दर मे 2 अंको तक का सुधार लाना।
  • बिना भेदभाव हर साल प्रसूति मे 1.5 अंको की बढ़ोतरी का लक्ष्य।
  • प्रति वर्ष ANC के तिमाही पंजीकरण मे 1% की वृद्धि।
  • माध्यमिक शिक्षा में लड़कियों के नामांकन को 2018-19 तक 82% तक बढ़ाएं।
  • हर एक स्कूल मे लड़कियो के लिए शौचालय बनाया जाए।
  • लड़कियो की पोषण की स्थिति मे सुधार लाना। 5 साल से कम उम्र की लड़कियो मे रक्तहीनता से पीड़ित(anemic) का दर कम करना।
  • लड़कियों की उपस्थिती ओर समान देखभाल की निगरानी ICDS (Integrated Child Development Services) के तहत की जाएगी।
  • Protection of Children from Sexual Offences (POCSO) Act 2012 के आधार पर लड़कियो को यौन अपराधो से बचाना ओर उनके लिए एक सुरक्षित वातावरण बनाना।
  • लड़कीयो की शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए समुदायों को संगठित करें।

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना से जुड़े मंत्रालय (Department)

  • महिला एवं बाल विकास मंत्रालय (Ministry of Women and Child Development)
  • स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय (Ministry of Health and Family Welfare)
  • मानव संसाधन विकास मंत्रालय (Ministry of Human Resource Development)

महिला एवं बाल विकास मंत्रालय (Ministry of Women and Child Development) ध्वारा किए गए कार्य

  • गर्भधारण के पहेले तीन महीने मे आंगनवाड़ी केंद्र पर गर्भधारण के पंजीकरण करवाना।
  • महिलाओ को वयवसायिक प्रशिक्षण देना।
  • सामाजिक परिवर्तन ओर संवेदीकरण।
  • सामाजिक कार्य मे अग्रणी कार्यकर्ताओं एवं संस्थाओं को पुरस्कार एवं मान्यता प्रदान करना।

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय (Ministry of Health and Family Welfare) ध्वारा किए गए कार्य

  • लड़का -लड़की मे भेदभाव ओर पूर्व निदान तकनीक (PCPNDT) अधिनियम, 1994 के अमल की निगरानी।
  • प्रसव के लिए प्रसूति घर का निर्माण करना।
  • बच्चो के जन्म का पंजीकरण।
  • PNDT के नियमो को मजबूत बनाना।
  • निगरानी कमिटीओ की स्थापना करना।

मानव संसाधन विकास मंत्रालय (Ministry of Human Resource Development) ध्वारा किए गए कार्य

  • लड़कियो का सार्वत्रिक तोर पर नामांकन।
  • लड़कियो की बीच मे छोड़े जाने वाली पढ़ाई के दर को कम करना।
  • समाज को लड़कियो की उच्च शिक्षा के लिए जागरूक करना।
  • स्कूल मे लड़कियो के साथ मेल-जोल वाला ओर मिलनसार व्यवहार पर ज़ोर देना।
  • हर स्कूल मे लड़कियो के लिए शौचालय बनवाना।

 

“बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना” के लिए हम क्या कर सकते है।

  • हमे बेटी के जन्म पर खुशी मनानी चाहिए।
  • बाल-विवाह को रोके।
  • बेटियो को बोज न समजकर उन्हे अपना गौरव मानना चाहिए।
  • लड़के-लड़की के तफ़ावत को दूर करने की जागृति लानी चाहिए।
  • लड़कियो को उच्च शिक्षण के लिए प्रोत्साहित करे ओर उन्हे काम करने आदि की छूट दे।
  • लड़कियो को घर मे नजरबंद न रखे ओर उन्हे सार्वजनिक जगह पर आवा-जाही करने की छूट दे।
  • दहेज प्रथा का विरोध करे।
  • हमे अपने रूढ़िवादी मानस को बदलना चाहिए ओर लड़कियो की शिक्षा के लिए स्कूल-कॉलेज आदि संस्थाओ मे एक सुरक्षित वातावरण खड़ा करे।
  • हमे हर नारी का सम्मान करना चाहिए।
  • लिंग परीक्षण को बढ़ावा न दे बल्कि ऐसे परीक्षण को होने से रोको।
  • महिलाओ ओर लड़कियो के लिए एक सुरक्षित समाज की रचना करे।
  • लड़कियो को संपत्ति के वारीश के अधिकार को समर्थन दे।
  • लड़कियो ओर महिलाओ के प्रति आदरभाव रखे ओर उन्हे सहयोग करे।

 

आशा है की आपको बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना इन हिन्दी की इस जानकारी ध्वारा इस योजना के बारे मे जो जानकारी दी गई है उससे आप संतुष्ट होगे। हमे सरकार ध्वारा चलाये गए इस अभियान को साकार करना है, ओर जन जन तक beti bachao beti padhao scheme को पहोचाना है।अगर आपको इस जानकारी के बारे मे ओर कुछ जानना हो तो आप comment मे अपने सवाल हमे पुछ सकते है।

चेतावनी:- बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ (BBBP) योजना दान के लिए कॉल या आवेदन नहीं करती है।Important note:- BETI BACHAO BETI PADHAO (BBBP) SCHEME DOES NOT CALL FOR DONATIONS

अन्य योजनाए पढ़ने के लिए योजना के नाम पर Click करे

सुकन्या समृद्धि योजना

मातृ वंदना योजना

अमृत योजना

गोबर धन योजना

मुद्रा लोन योजना

राष्ट्रीय पोषण मिशन

फसल बीमा योजना

आयुष्मान भारत योजना

अमृतम योजना

उज्ज्वला योजना

वनबंधु कल्याण योजना

भाग्य लक्ष्मी योजना

लाड़ली लक्ष्मी योजना

सौर सुजला योजना

प्रधानमंत्री युवा योजना

ग्राम ज्योति योजना

कौशल विकास योजना

जन-धन योजना

सांसद आदर्श ग्राम योजना

खनिज क्षेत्र कल्याण योजना

अटल पेंशन योजना

जन औषधि योजना

रोजगार प्रोत्साहन योजना

जीवन ज्योति बीमा योजना

आवास योजना

कृषि सिंचाई योजना

मेक इन इंडिया

ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान

सीखो ओर कमाओ योजना

National Aapprenticeship Promotion Scheme

स्टैंड अप इंडिया

वय वंदना योजना

स्वच्छ भारत अभियान

स्कूल नर्सरी योजना

स्मार्ट सिटि योजना

पढ़ो परदेश योजना

नई मंज़िल योजना

पहल योजना

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *