Sagarmala Project In Hindi – मोदी सागरमाला योजना

Sagarmala Project

Sagarmala Project In Hindi के इस लेख मे आपको Sagarmala Project Details, Sagarmala Project MAP, Sagarmala Project PDF के साथ इस योजना की जानकारी दी गई है। इसके साथ Sagarmala Yojana In Hindi के इस लेख मे आपको Sagarmala Project PDF दी जाएगी जिसे आप Download भी कर सकते है। Sagarmala Project की विस्तार से जानकारी के लिए आपको इस लेख को पूरा पढ़ना होगा।

Sagarmala Project In Hindi

sagarmala project पहेले अटलजी की सरकार ध्वारा 2003 मे शुरू की गई योजना है। लेनिक मोदी सरकार ने इस योजना की समीक्षा कर Sagarmala Project को देशव्यापी ओर देश के सभी मुख्य छोटे-बड़े समुद्री बंदरगाहों के विकास के साथ उन्हे जोड़ने के लिए बनाई गई योजना है। साथ ही Sagarmala Project के अंतर्गत बंदरगाह के आस-पास के विस्तारों का विकास किया जाएगा।

मोदी सागरमाला योजना को 15 अगस्त २०१४ को हमारे प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के ध्वारा एक नए रूप मे शुरू किया गया। उन्होने इस योजना को लेकर कहा की – यह योजना समुद्र तट के राज्यो ओर विस्तारों के लिए एक महत्वकांक्षी योजना है। इस योजना के तहत बंदरगाह का विकास किया जाएगा ओर विकसित बंदरगाह से परिवहन की सुविधा को आसान बनाया जाएगा। Sagarmala Project के अंतर्गत बंदरगाह को विशेष आर्थिक क्षेत्र (Special Economic Zone) घोषित किया जाएगा। साथ ही समुद्र तट के क्षेत्रो से रेल, सड़क, हवाई मार्ग ओर आंतरिक जल मार्ग के साथ जोड़ा जाएगा।

समुद्री व्यापार मे विश्व के 2\3 जितना समुद्री व्यापार भारत से होता है। साथ ही कंटेनर व्यापार का 50% व्यापार हिन्द महासागर से होता है। भारत देश के पास कुल 7500 KM का समुद्री तटीय हिस्सा है जिससे समुद्री व्यापार मे उपयोग किया जा सकता है। अगर इस 7500 KM के समुद्री तटीय विस्तार को जोड़ दिया जाए तो समय ओर पैसो की बचत होगी। साथ ही इस योजना के अंतर्गत सरकार ध्वारा इन सभी तटीय विस्तारों के साथ रेल, सड़क, हवाई और आंतरिक जला मार्ग को जोड़ा जाएगा। एसा करने से व्यापार के पीछे की परिवहन की लागत कम हो जाएगी ओर जिसका सीधा लाभ व्यापारी ओर खरीदार दोनों को होगा।

एक अनुमान है की Sagarmala Project के सफल होने से सरकार को सालाना 40 हजार करोड़ का फ़ायदा होगा।

Sagarmala Project Component

  • पुराने बंदरगाह का आधुनिकरण करना।
  • नए बंदरगाह विकसना।
  • बंदरगाह संयोजकता (Connectivity) में वृद्धि लाना।
  • बंदरगाह के नजदीक के विस्तारों मे उधोगीकरण करना।
  • तटीय विस्तारों का विकास करना।

Sagarmala Institutional Framework

Sagarmala Project Mission

इस योजना के अंतर्गत भारत के 7500 KM के तट विस्तार का विकास करना और साथ ही सभी बड़े बंदरगाहों को आधुनिक सुविधाओ से विकसित करना। योजना के अंतर्गत सरकार का यह आशय है की व्यापार परिवहन की लागत कम हो और समुद्र तट के विस्तार का विकास हो।

 

Sagarmala Project Details

  • लगभग 87% भारतीय माल-सामान के परिवहन के लिए सड़क या रेल का उपयोग करता है, जिससे समय ओर खर्च दोनों ज्यादा होते है।
  • किसी भी देश के सामाजिक एवं आर्थिक विकास के लिए समुद्री परिवहन एक महत्वपूर्ण अवसंरचना (Infrastructure) होती है। इससे विकास की गति, ढांचा और रूपरेखा प्रभावित होती है।
  • Sagarmala Project की मुख्य अवधारणा “बंदरगाह के नेतृत्व में विकास” करना है।
  • भारत की तटरेखा और जलमार्गों की पूरी क्षमता को खोलकर, भारत के रसद (Supply) क्षेत्र मे परिवर्तन लाने के उद्देश्य से सागरमाला एक महत्वाकांक्षी राष्ट्रीय पहल है।
  • Sagarmala Project के तहत बाहरी और घरेलू माल के लिए रसद (Supply) लागत को कम होगी, जिससे कुल लागत बचत 35,000 से 40,000 करोड़ रुपये सालाना हो सकती है।
  • Sagarmala Project का दृष्टिकोण घरेलू और बाहरी माल-सामान दोनों के लिए अनुकूलित आधारभूत संरचना निवेश (Customized infrastructure investment) के साथ रसद (Supply) लागत को कम करना है।
  • इस योजना से कुछ प्रत्यक्ष लागत बचत (Direct cost savings) होगी, जबकि अन्य माल-सामान परिवहन की लागत कम होगी।
  • विशेष रूप से कंटेनरों के परिवहन में समय की बचत के कारण कम लागत होगी।
  • Sagarmala Project मे परिवहन क्षेत्र से 12.5 मीट्रिक टन / वर्ष तक कार्बन उत्सर्जन के कम होने की आशा है।
  • इस योजना से बंदरगाह के विकास के साथ साथ उसके आस-पास के क्षेत्रो का भी विकास होगा।
  • विकसित बंदरगाह के आस-पास के इलाको मे नए उधोग विकसाए जाएगे, जिससे नए रोजगार का निर्माण होगा।
  • रोजगार – योजना के सफल होने से अनुमानित आंकड़ो के आधार पर लगभग 40 लाख प्रत्यक्ष रूप से रोजगार के अवसर पेदा होगे और 60 लाख अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार मिलेगा।
  • योजना के तहत मुख्य बंदरगाह को चार अलग मार्गो से जोड़ने का कार्य होगा, जेसे की रेल, सड़क, हवाई और आंतरिक जल मार्ग से मुख्य बंदरगाह को जोड़ा जाएगा।

Sagarmala Project MAP

Sagarmala Project के लाभ

  • यह अनुमान है की इस योजना से सरकार को लगभग सालाना 40 हजार करोड़ की बचत होगी।
  • इस योजना के अंतर्गत देश के आंतरिक जलमार्गो को भी विकसित किया जाएगा। जिससे जन-परिवहन ओर माल-परिवहन मे समय ओर पेसो के खर्च की बचत होगी।
  • आंतरिक जलमार्गो को सीधे बंदरगाह से जोड़ा जाएगा जिससे परिवहन सुविधा बहेतर ओर वेगित होगी।
  • इस योजना के तहत रेल मार्ग को भी बंदरगाह से जोड़ा जाएगा, जिससे माल परिवहन सरल हो जाएगा।
  • इस योजना के तहत उधोगों को बंदरगाह के नजदीक के विस्तारों मे बसे जाएगा, जिससे परिवहन का खर्च कम हो और आस-पास के इलाको मे रोजगार का निर्माण हो।

Sagarmala Project

  • इस योजना के तहत रेल मंत्रालय ध्वारा 20 हजार करोड़ की लागत से नए 21 बंदरगाह-रेल मार्ग का निर्माण होगा। जिसे जहाजरानी मंत्रालय ध्वारा अपनी प्रमुख योजना सागरमाला के अंतर्गत बंदरगाह से संपर्क जोड़ने के लक्ष्य के आधार पर बनाया गया है।
  • इसका उद्देश्य रेल मार्ग के परिवहन को मजबूत बनाना और बंदरगाह को अंतिम छोर तक संपर्क उपलब्ध कराना है।
  • इस योजना के तहत जहाजरानी मंत्रालय ध्वारा “भारतीय बंदरगाह रेल निगम” (Indian Port Rail Corporation Limited) का निर्माण किया गया है।
  • इस योजना के अंतर्गत 577 से अधिक परियोजनाए बनाई गई है, जिसमे लागत 8.57 लाख करोड़ होगी।

 

  • 31-मार्च-2018 तक, कुल 492 परियोजनाएं कार्यान्वयन, विकास और समापन के विभिन्न चरणों में थीं। जिनकी लागत लगभग 4.25 लाख करोड़ रुपये की है।
  • इस योजना से 10 वर्ष के अंदर 1 करोड़ जीतने रोजगार का निर्माण होगा।
  • इस योजना के तहत 6 नए बड़े बंदरगाह बनाए जाएगे।

Sagarmala Project Web Portal

सागरमाला योजना की अधिक जानकारी के लिए ओर योजना से जुड़े सभी तथ्यो के परिचय के लिए आप यहा CLICK करे।

Sagarmala Project PDF

सागरमाला योजना की PDF Download करने के लिए यहा CLICK करे।

प्यारे पाठक आपको Sagarmala Project In Hindi लेख मे हमने योजना के उद्देश्य की जानकारी प्रदान की है। अगर आपको इस योजना या अन्य किसी सरकारी योजना के बारे कोई भी जानकारी हांशील करनी हो तो आप हमे COMMENT करके संपर्क कर सकते है।

अन्य योजनाए पढ़ने के लिए योजना के नाम पर Click करे

सुकन्या समृद्धि योजना

मातृ वंदना योजना

अमृत योजना

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ

गोबर धन योजना

मुद्रा लोन योजना

राष्ट्रीय पोषण मिशन

फसल बीमा योजना

आयुष्मान भारत योजना

अमृतम योजना

उज्ज्वला योजना

भाग्य लक्ष्मी योजना

लाड़ली लक्ष्मी योजना

सौर सुजला योजना

प्रधानमंत्री युवा योजना

ग्राम ज्योति योजना

कौशल विकास योजना

जन-धन योजना

सांसद आदर्श ग्राम योजना

खनिज क्षेत्र कल्याण योजना

अटल पेंशन योजना

जन औषधि योजना

रोजगार प्रोत्साहन योजना

जीवन ज्योति बीमा योजना

आवास योजना

कृषि सिंचाई योजना

मेक इन इंडिया

ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान

सीखो ओर कमाओ योजना

National Aapprenticeship Promotion Scheme

स्टैंड अप इंडिया

वय वंदना योजना

स्वच्छ भारत अभियान

स्कूल नर्सरी योजना

स्मार्ट सिटि योजना

पहल योजना

पढ़ो परदेश योजना

नई मंज़िल योजना

वनबंधु कल्याण योजना

Gold Monetisation Scheme in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *